जिन महिलाओं को मेरे हाथों से शाॅल उड़वाई थी, कहीं उन्हें भी न मार देंः अलीगढ़ महापौर फुरकान

अलीगढ़ः यहां के मेयर फुरकान अहमद ने गुरुवार को बीजेपी और वार्ष्णेय समाज के लोगों द्वारा महाराज अक्रूर की प्रतिमा को गंगाजल से धोने का शुद्ध करने पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कई महिलाओं को शाॅल ओढ़ाकर सम्मानित किया था। ऐसे में जिन महिलाओं को मेरे हाथों से शाॅल उड़वाई थी, वो कहीं उन्हें भी न मार दें।

बसपा से महापौर फुरकान अहमद अक्रूर  महाराज शोभा यात्रा में शामिल हुए थे। इस पर बीजेपी और वार्ष्णेय समाज के लोगों ने अक्रूर महाराज और पूरे पार्क को गंगाजल से शुद्ध किया था। वार्ष्णेय  समाज के लोगों ने आयोजकों की ओर से उन्हें आमंत्रित करने पर आपत्ति जताते हुए कहा कि अक्रूर महाराज की शोभायात्रा में सिर्फ वार्ष्णेय  समाज से जुड़े लोगों को ही आमंत्रित किया जाता है। 

इस पर शुक्रवार को महापौर फुरकान अहमद ने कहा कि ऐसा कर बीजेपी के लोग देश को क्या संदेश देना चाहते हैं। उधर, अलीगढ़ में मूर्तियों पर राजनीति तेज हो गई है। 

शुक्रवार को कांग्रेसियों ने आंबेडकर की मूर्ति को दूध और गंगाजल से पवित्र किया। एक दिन पहले बीजेपी सांसद ने तमाम नेताओं के साथ इस पार्क में उपवास किया था।