पूर्व BSP नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने थामा कांग्रेस का हाथ

नई दिल्ली. पूर्व बीएसपी नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने गुरुवार को अपने साथियों के साथ कांग्रेस का दामन थाम लिया है। सिद्दकी ने यूपी प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर और गुलाम नबी आजाद की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता ली। 

क्या बोले नसीमुद्दीन सिद्दीकी

-नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने गुलाम नबी आजाद समेत पार्टी के सभी वरिष्ठ नेताओं को धन्यवाद दिया। -

-उन्होंने कहा, 'मैं आभार व्यक्त करता हूं कि मुझे देश की सबसे बड़ी पार्टी, जिसने देश की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है,उस पार्टी में मुझे जगह मिली है।' 

 

ये नेता हुए कांग्रेस में शामिल 

-नसीमुद्दीन सिद्दकी

-ओपी सिंह

-लियाक़त अली

-अच्छे लाल निषाद

-अरशद खान

-बेगम हुस्ना सिद्दकी सहित पूर्व सांसदों पूर्व विधायकों और कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ली। 

10 मई 2017 को बसपा से बर्खास्त हुए थे नसीमुद्दीन 

-बता दें, 10 मई, 2017 को बसपा सुप्रीमो मायावती ने नसीमुद्दीन और उनके बेटे अल्ताफ को पार्टी से बाहर कर दिया था। दोनों पर अनुशासनहीनता का आरोप लगा था।

 

1988 में शुरू किया था राजनीतिक करियर, थामा था बीएसपी का हाथ

-बता दें कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी बांदा जिले के सेवरा गांव के रहने वाले हैं। उन्होंने 1988 में अपना राजनीतिक करियर शुरू किया था। इसी साल वो बीएसपी से जुड़े थी। 

- 1991 में पहली बार विधायक चुने गए और 1993 में हार गए थे। 

-बसपा सुप्रीमो मायावती 1995 में पहली बार सीएम बनीं। नसीमुद्दीन कैबिनेट मंत्री बने। 1997 और 2002 में भी मंत्री रहे। 

-13 मई 2007 से 7 मार्च 2012 तक मायावती की फुल टाइम गवर्नमेंट में भी मंत्री रहे।